अटल बिहारी वाजपेयी का 93 वर्ष की उम्र में निधन, देश भर में दौड़ी शोक की लहर

रत्नेश कुमार मिश्र Edited by: [सौरभ शर्मा] नई दिल्ली
August 16, 2018 4:30 pm

देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का निधन हो गया है. दिल्ली के एम्स में गुरुवार को 93 साल की उम्र में उन्होंने अंतिम सांस ली है. उन्हें वेंटिलेटर पर रखकर उनको बचाने की आखिरी कोशिश की जा रही है.

 

यूरिन इन्फेक्शन की शिकायत के बाद अटल बिहारी वाजपेयी को 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. हालत बिगड़ने पर उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया. उनकी हालत की सूचना मिलते ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमित शाह समेत कई दिग्दज एम्स पहुंचे. पिछले 24 घंटे में मोदी 2 बार अस्पताल जा चुके हैं.

 

बताते चलें कि साल 2009 में भी अटल बिहारी वाजपेयी की तबीयत बहुत बिगड़ गई थी. उन्हें सांस लेने में दिक्कत हो रही थी. इसके बाद कई दिन तक उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया था. हालांकि, थोड़े समय बाद वो ठीक हो गए थे. इसके बाद ऐई रिपोर्ट्स आई कि वाजपेयी लकवे के शिकार हो गए हैं.

 

इस वजह से वे किसी से बोलते नहीं थे. इसके बाद में उन्हें स्मृति लोप हो गया. उन्होंने लोगों को पहचानना भी बंद कर दिया. उनका जन्म 25 दिसंबर 1924 को मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में हुआ था. उन्होंने साल 1999 से लेकर 2004 तक भारत के प्रधानमंत्री का कार्यकाल संभाला था.

 

अटल बिहारी वाजपेयी के पास अपनी अनोखी भाषण कला थी. उनकी मनमोहक मुस्कान व विचारधारा के साथ ठोस फैसले लेने की क्षमता ने भारत व पाकिस्तान के मतभेदों को दूर करने की दिशा में प्रभावी पहल की थी. पोखरण का परीक्षण उनके सबसे बड़े फैसलों में से एक माना जाता है.

Tags:

Categorised in: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular stories

देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का... View Article

मध्य प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन अपनी पांच सूत्री मांगों के... View Article