धनतेरस: 19 साल बाद बना ऐसा शुभ योग, खरीदें ये सामान, करें इन मंत्रों का जप

मधु शर्मा Edited by: [सौरभ कुमार] लखनऊ
October 17, 2017 12:25 pm

कार्तिक कृष्ण त्रयोदशी के दिन धनतेरस का त्योहार मनाया जाता है. धनतेरस का अर्थ होता है कि अपने धन को 13 गुणा बढ़ाया जाए. ज्योतिषियों की मानें तो 17 अक्टूबर दिन मंगलवार को दोपहर 3 बजे से 4.30 बजे तक के समय को छोड़कर पूरा दिन खरीदारी के लिए शुभ है. 19 साल बाद पांच योग अत्यंत शुभ लाभ देने वाला बना है.

 

मुहूर्त- इस समय विभिन्न सामानों की खरीदारी करें
काल- सुबह 7.33 बजे तक दवा और खाद्यान्न
शुभ- सुबह 9.13 बजे तक वाहन, मशीन, कपड़ा, शेयर और घरेलू सामान
चर- दोपहर 2.12 बजे तक गाड़ी, गतिमान वस्तु और गैजेट
लाभ- शाम 3.51 बजे तक लाभ कमाने वाली मशीन, औजार, कंप्यूटर और शेयर
अमृत- शाम 5.31 बजे तक जेवर, बर्तन, खिलौना, कपड़ा और स्टेशनरी
काल- शाम 7.11 बजे तक घरेलू सामान, खाद्यान्न और दवा

 

किस राशि के लोग क्या खरीदें
मेष: इलेक्ट्रॉनिक आइटम
वृष: मकान या वाहन
मिथुनः टीवी, लैपटॉप, मोबाइल
कर्कः चांदी या चांदी के बर्तन, फ्रीज
सिंहः सोने के आभूषण या गोल्ड क्वाइन
कन्याः नया मोबाइल और टीवी
तुलाः चांदी, वाहन, डायमंड
वृश्चिक: इलेक्ट्रॉनिक आइटम और लाइट
धनुः लक्ष्मी माता का सोने का सिक्का
मकर: वाहन, गृहपयोगी बर्तन, बिजली के यंत्र, फर्नीचर
कुंभः काले, नीले या ग्रे रंग का वाहन
मीनः प्रॉपर्टी

 

इन मन्त्रों का कर सकते हैं जाप
– ॐ ह्रीं कुबेराय नमः
– ‘यक्षाय कुबेराय वैश्रवणाय धन-धान्य अधिपतये धन-धान्य समृद्धि मे देहि दापय स्वाहा’

 

जानिए, क्या है धनतेरस का महत्‍व
धनतेरस के दिन आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति के जन्मदाता धन्वन्तरि वैद्य समुद्र से अमृत कलश लेकर प्रगट हुए थे, इसलिए धनतेरस को धन्वन्तरि जयन्ती भी कहते हैं. इसीलिए वैद्य-हकीम और ब्राह्मण समाज आज धनवंतरी भगवान का पूजन कर धन्वन्तरि जयन्ती मनाता है. बहुत कम लोग जानते हैं कि धनतेरस आयुर्वेद के जनक धनवंतरी की स्मृति में मनाया जाता है.

 

इस दिन लोग अपने घरों में नए बर्तन खरीदते हैं. उनमें पकवान रखकर भगवान धनवंतरी को अर्पित करते हैं. लेकिन वे यह भूल जाते हैं कि असली धन तो स्वास्थ्य है. धनवंतरी ईसा से लगभग दस हजार वर्ष पूर्व हुए थे. धनवंतरी के जीवन का सबसे बड़ा वैज्ञानिक प्रयोग अमृत का है. उनके जीवन के साथ अमृत का कलश जुड़ा है. वह भी सोने का कलश.

Categorised in: , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Popular stories

देश के पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी का... View Article

मध्य प्रदेश डिप्लोमा इंजीनियर्स एसोसिएशन अपनी पांच सूत्री मांगों के... View Article